सिंघाड़े के फलाहारी दही बड़े

सामग्री 
आलू  400 ग्राम
सिंघाड़े या कुट्टू का आटा 50 ग्राम
सेंधा नमक आधा छोटी चम्मच
काली मिर्च  आधी छोटी चम्मच
बड़ी इलाइची 2 छील कर कूटी हुई
भुना जीरा पाऊडर 1 छोटी चम्मच
हरा धनिया एक टेबल स्पून (बारीक कटा)
दही 400 ग्राम
घी या तेल  बड़े तलने के लिये

विधि :
- आलू को धोकर उबाल लीजिए और ठंडा कर के छील लें।

- आलू को बारीक तोड़ लें या फिर कद्दूकस कर लें, अब इनमें सिंघाड़े या कुट्टू का आटा स्वादानुसार सेंधा नमक, काली मिर्च, इलायची और हरा धनिया डाल कर अच्छी तरह मसल-मसल कर आटे की तरह गूंथ लें।

- दही को फैंट लें तथा उसमें स्वादानुसार सेंधा नमक डाल कर मिला लें।

- कड़ाही में घी डाल कर गर्म करें। गुंथे आटे से थोड़ा सा मिश्रण उठा कर, गोल करके चपटा करें और वड़े का आकार दे दें। अगर मिश्रण गीला है हाथ से चिपक रहा है तब एक साफ  रुमाल या कपड़ा पानी में भिगो लें तथा भीगे कपड़े को कटोरी के ऊपर पर लगाएं और कपड़े को पीछे से पकड़ कर रखें। आलू के आटे से थोड़ा सा आटा लेकर गोला बनाएं तथा भीगे कपड़े के ऊपर रखकर पानी के सहारे, जैसे दाल के दही वड़े जैसे बनाए जाते है उसी प्रकार से चपटा करके बनाइए और कड़ाही में डाल दीजिए। एक बार में 4-5 वड़े बना कर कड़ाही में डाल दें तथा उन्हें पलट-पलट कर ब्राऊन होने तक तलिए।

- तलने के बाद उन्हें दही में डुबो दीजिए तथा उसके ऊपर हरा धनिया और भुना हुआ जीरा डाल दें। इसे आप भोजन के समय या यूं भी स्नैक्स के तौर पर खा सकती हैं।






No comments:

Post a Comment

|| Your Ads Here ||

Adbox

@ChatkaraInsta

Code of Insta here... !!